: ज कल क्रिकेटर कैसे विवादों में फंसते हैं? मैदान पर गाली-गलौज कर दी या बाहर किसी से बदसलूकी कर दी. किसी ऐड पर कंट्रोवर्सी हो गई या ज्यादा से ज्यादा स्पॉट फिक्सिंग में नाम आ गया. इतना ही ना? लेकिन एक क्रिकेटर ऐसा था जिसने मर्डर कर दिया था और उसे फांसी की सजा हुई थी.

वेस्टइंडीज का लेस्ली हिल्टन इकलौता क्रिकेटर था जिसे फांसी की सजा दी गई. इस फास्ट बोलर ने अपनी बीवी का मर्डर किया था. 17 मई 1955 को उसे जमैका में फांसी दे दी गई.

लेस्ली हिल्टन ने 1934-35 में ‘RES वायट्स इंग्लिशमेन’ के खिलाफ करियर की पहली टेस्ट सीरीज खेली और इसमें 13 विकेट लिए.

अजीबोगरीब डेब्यू

उनका डेब्यू हुआ बारबडोस के केंसिंग्टन ओवल मैदान पर. बारिश से पिच काफी गीली थी. वेस्टइंडीज को पहले बैटिंग करनी पड़ी और वह सिर्फ 102 रन बना पाई. जवाब में मैनी मार्टिनडेल और हिल्टन ने तीन विकेट जल्दी निकालकर इंग्लैंड की हालत खस्ता कर दी. उनके 81 रन पर 7 विकेट गिर चुके थे. पिच हलवा बन चुकी थी. अंग्रेजों ने पारी डिक्लेयर कर दी.

Prev
GO TO NEXT PAGE FOR MORE..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here